Popular Posts

Friday, 19 August 2011

आप भी मिलिए मेरे जिगर के तुकडे से

मै अपने आप में अपने को कितना पूर्ण महसूस कर रही हु मै बता नहीं सकती आप को, इश्वर करे हर नारी को माँ बनने का सोभाग्य प्राप्त हो , मै हमेशा से एक बेटी की ही कामना करती थी , मुझे girls के कपडे बेहद पसंद है खासकर के छोटी बचियो के, आप भी सोचेंगे भला ये तो कोई कारन ना हुआ लड़की की कामना करने का , हम्म थोडा नाराज हुई थी इश्वर से पर पहली बार जब अपने बेटे को गोद में लिया तो ऐसा लगा दुनिया की सारी खुसिया मेरे ही आँचल में है , कुछ तस्वीरे मेरे राजकुमार की ( वैसे प्यार से मै उसे कहती हु " मेली छोटी ची लज्कुमारी " और वो हंस देता है ...
ये तब का फोटो है जब मेरा मुदित १ महीने का हुआ था , बहुत सोता था सायद सब बच्चे ऐसे ही सोते है...
वन्दे मातरम का पोस देते हुए इसकी ये फोटो मुझे बहुत प्यारी लगती है
बचपन (तीसरे महीने) से ही वो बोलने की कोशिश करता था, पर खुदरत से कोण जीत पाया है, अभी तुम छोटे हो बच्चे
इस टाइम पे पता नहीं कैसे उसके सरे सर के आगे के बाल गायब हो गए थे , हम लोग बोहत घबरा गए, पर जब दोबारा बाल आये तब हमारी जान में जान आई .
ये जगह उसकी फवौरिते है , क्युकी यहाँ से खुला आसमान जो दिखता है
कितने तरह के expression देता है, कभी कभी बहुत हैरानी होती है
camera से नजर नहीं हटाता .hahaha
मुदित का बेस्ट फ्रेंड , इसको देख के बोहत खुश होता है

अभी के लिए इतना ही , उसकी और pictures दुसरे पोस्ट में पेस्ट karungi
आप बताएगा मेरा मुदित कैसा लगा आपको 

16 comments:

  1. नन्हे बालक की अदाएँ, शैतानी भरी

    ReplyDelete
  2. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  3. बहुत सुन्दर फोटोग्राफ्स हैं ......और साथ में आपके कमेंट्स भी बहुत बहुत अछे हैं......देख के अच्छा लगा....

    और रही बात लड़की और लड़के की......तो ये निश्चय ही विवाद का विषय है.......एक नन्ही मुन्नी सी बच्ची, प्यारी सी शैतान सी बच्ची वास्तव में बेटे की तुलना में कहीं अधिक ख़ुशी देती है.......परन्तु बड़ी होने पर......बातें शायद ज्यादा नहीं तो थोड़ी तो जरुर बदल जाती हैं........(ज्यादा कुछ नहीं कहूँगा......बातें विवादास्पद हैं......)

    ReplyDelete
  4. aap sabhi ke comments ke liye boht boht thanks

    ReplyDelete
  5. आपकी ख़ुशी में हमारी ख़ुशी शामिल ...खुदा करे आपका यह बेटा जीवन में बहुत उन्नति करे और आपकी खुशियों को बरकरार रखे .....!

    ReplyDelete
  6. बहुत ही सुन्दर और बहुत ही प्यारे है दोनों मुदित और उनपे किये गए कमेंट्स बहुत खूब पढ़ कर अच्छा लगा मेरी ईश्वर से प्रार्थना है की आपकी ख्वाहिस जल्द ही और जरुर पूरी हो

    MITRA-MADHUR
    MADHUR VAANI
    BINDAAS_BAATEN

    ReplyDelete
  7. ये तो बहुत प्याला है... गुलू पुलु है...

    ReplyDelete
  8. सुन्दर फोटोग्राफ्स

    ReplyDelete
  9. Bahut sunder...
    man prafullit ho gaya babu ko dekha kar...
    sach me bachhe mujhe bahut pashand hain..

    ek geet suniyega....
    Mera nam karega roshan jag me mera raj dulara..!!

    abhar

    ReplyDelete
  10. @ ravi, hmm bache hote hi bohot pyare hai, bilkul nischal(chal kapat ke bina), nishpap, subh ki pehli kiran ke jaise , unpe pyar aa hi jata hai

    ReplyDelete
  11. Hahahahhaha
    @geeta ji
    ap bachche nahi hain ...!!
    ye sach hi didi bahan ,
    bachche insab se dur hote hin is liye to hame pyare lagte hain.!!

    apne socha hi kabhi agar inshan bhi nishchhal ho gaye to o v bachcho jitna hi pyara lagega.

    apke blogg ka anusharab kar raha hun

    mere blogg par ane ke liye apka abhar

    ReplyDelete
  12. bahut accha hai aapka rajkumar nazr na lage isko kisi ki bhi.

    ReplyDelete