Popular Posts

Tuesday, 28 June 2011

LADALI

बेटिया हमेशा से ही अपने पापा की लाडली रहती है . इसका कारन क्या है ये में नहीं जानती , मै भी अपने 
पापा से बोहत प्यार करती हू , माँ से भी मेरा लगाव है पर मुझे बचपन में कोई भी बात मनवानी होती थी तो मै 
सीधा अपने पापा से ही कहती थी , वो कभी मुझ पे गुस्सा भी नहीं होते थे , मेरी सारी इछाये मेरे पापा ने हमेशा पूरी की है , मम्मी जब भी मुझे कोई घर का काम सिखाना चाहती तो मुझे समझ नहीं आता था वही अगर मेरे पापा 
कोई काम मुझे सिखाते तो मै जल्दी ही सीख जाती , मेरे पापा फोज में थे तो वो हर काम में निपुण थे , क्युकी वहा 
अपना काम उन्हें स्वयं ही करना पड़ता था उन्होंने हमेशा ये ही शिक्षा हमे दी , मेरे २ भाई भी ह दोनों ही मुझसे बड़े है , वो हमेशा मुझसे जलते थे बचपन में की पापा सारी बात गुडिया (मेरा नाम ) की ही क्यूँ मानते है .

शादी हो जाने के बाद वो दिन बोहोत याद आया करते है , हमेशा पंख लगाकर उड़ने वाली पापा की लाडली बिटिया , आज ससुराल की बेडियो में बांध के रह गई है , उसकी वो स्वतंत्र जिंदगी मनो किसी ने छीन ली हो, न जाने क्यूँ ये दुनिया ने रीत बनाई है के विवाह के पश्चात लडकियों का अस्तित्व ही समाप्त हो जाता है 

ससुराल में मायके जैसा प्यार पाने की कल्पना रखती थी मै, अब अपने पे हंसी आती है , 

कुछ सवाल है मन में :

क्यूँ सास ससुर अपने बहु और बेटे में फरक करते है
क्यूँ ससुराल को हम ससुराल कहते है , अपना घर क्यूँ नहीं कहते
क्यूँ सारी अपेक्षाए बहु से ही की जाती है , के वो ऑफिस भी जाये और घर का काम भी करे
क्यूँ आजकल की लडकिया शादी के बाद सयुक्त परिवार में रहने से कतराती है 

है कोई जवाब 

Monday, 20 June 2011

UP bana "Balatkari Pradesh"

बलात्कार जैसी खबर सुनते ही रोंगटे खड़े हो जाते है . बलात्कारी सिर्फ सरीर को ही नहीं गन्दा करते बल्कि किसी भी लड़की की आत्मा तक को रोंद देते है . उ.प . को बलात्कारी प्रदेश का दर्जा दिया गया है . पिछले ४८ घंटे में वहा बलात्कार की ५ घटनाये सामने आई है .

एक  लड़की , जिसके बलात्कार का विरोध करने पर , उन पापियों ने उसकी आँख़ें चाकुओ से रोंद दी, सायद वो अब एक आख से कभी न देख पाए .

एक औरत जिसका गंग रेप हुआ , उसके बाद उन अपराधियों  ने उसे जिन्दा जला दिया 

एक दलित लड़की का रेप हुआ बन्दूक की नोक पर 

एक १३ साल की लड़की को खेत में  मृत  पाई  गयी, उसका रेप करने के बाद अपराधियों  ने उसे मार दिया 

अलीगढ में अक ४५ वर्षीय औरत को २ पोलिसे वालो ने रेप का शिकार बनाया 

ऐसे ही कितने केस आते है और सुनवाई का इंतज़ार करते करते सालो साल बीत जाते है , बोहत से केस में अपराधी को कुछ दिनों की सजा मिलती है और जेल से रिहा होने के बाद वो फिर से अपने नए शिकार के लिए निकल पढता है ,

समय है हमारे देश की कानून निति में बदलाव लाने की , उन सभी अपराधियों को कड़ी से कड़ी  सजा देने की , जिसे देख कर कोई दूसरा व्यक्ति सबक ले सके ...

आप लोगो के सुझाव में अपराधी को क्या सजा मिलनी चाहिये ..

science or andhvishvaas

आज science ने इतन्नी तरक्की कर ली है , फिर भी आज हमारी सोच में कोई खास बदलाव नहीं आया है, बात सिर्फ villages में रहने वाले लोगो की नहीं शेहरो में भी  अन्धविश्वासो ने अपनी पकड़ मजबूत की हुई है .
सायद इसका अक कारन अपनी दादी नानी से सुने हुए वो किस्से है जो बचपन  में हम सभी ने सुने है, हमारा दिल अभी तक उन बात्तो को सच माने बैठा है. 

जैसे बिल्ली क रास्ता काटने का मतलब है कोई परेशानी आना , शुभ काम से पहले अगर कोई छीख दे तो अपसगुन होना , ऐसे ही कई अन्धविश्वास है ....

आप लोग इस से कहा तक सहमत है ? 

Friday, 17 June 2011